899 views

लोकमित्र केन्द्र कर रहा है लोगों के साथ धोखाधड़ी?

आरोपः मिश्रवाला का लोकमित्र केन्द्र प्रधानी की ठसक और रसूख के कारण रहता है अक्सर बंद

पांवटा साहिब। सरकार ने लोगों खासकर ग्रामीण हलकों में सरकारी सुविधाओं और भुगतान की प्रणाली को आसान करने के लिए थोक में लोकमित्र केन्द्र खोले हैं लेकिन सरकार में रसूख और पहंुच रखने वालों ने अपने दंबगई स्वभाव के चलते लोकमित्र केन्द्रों को लोगों के लिए जी का जंजाल बना दिया। कुछ लोकमित्र केन्द्र खुलते ही नहीं और जो खुले हैं उनके माध्यम से किया गया सरकारी भुगतान संबंधित विभाग के खाते में नहीं जा रहा जिससे लोगों को परेशानी हो रही है।
इसी क्रम पेश है माजरा लोकमित्र केन्द्र की बानगी- मिश्रवाला के निवासी निसार अहमद का आरोप है कि उसने दो माह के घर का बिजली का बिल माजरा लोकमित्र केन्द्र में जमा किया था जिसकी रसीद उसके पास है परन्तु अब जुलाई महीने में 2$2 माह का पुनः बिल आया जिसमें पिछला बिल भी जोड़ दिया गया है। यानि लोकमित्र केन्द्र में उनके द्वारा जमा कराया गया बिजली का भुगतान उनके खाते में नहीं गया है। इस बात की पुष्टि करने पर लोकमित्र केन्द्र का संचालक सही जानकारी नहीं दे रहा है। अब पीड़ित को यह शंका है कि कहीं लोकमित्र की आड़ में उनके साथ धोखाधड़ी तो नहीं हो रही है? अतः मामले की जांच की जानी चाहिए। पीड़ित का यह भी आरोप है कि एक बार भुगतान अदा करने के बाद उसी मद हेतु बिजली विभाग द्वारा दुबारा भुगतान मांगना तर्क संगत नहीं है जबकि उनके पास लोकमित्र केन्द्र की रसीद है। शिकायतकर्ता का यह कहना है कि यदि इसमें घोटाला हुआ तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? इसके अलावा यह समस्या इसलिए भी उत्पन्न हुई है क्योंकि मिश्रवाला स्थित लोकमित्र केन्द्र प्रधान का बेटा चला रहा है जो अक्सर बंद रहता है अतः लोगों को मजबूरी में माजरा का रूख करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!