3,012 views

108 ने किया फिर कमाल, सरकारी डाक्टर सिद्ध हुआ अंगूठा छाप

पांवटा साहिब। प्रसव पीड़ा से कराह रही युवती को पांवटा सरकारी अस्पताल के डाक्टर ने बच्चे के दम घुटने तथा बच्चे की जान का हवाला देकर गायनो डाक्टर की सलाह लिए बिना ही पीड़ा से कराह रही महिला को जिला अस्पताल हेतु रैफर कर दिया। परन्तु देखिये कुदरत का करिश्मा जहाँ डाक्टर ने जच्चा-बच्चा के जान का हवाला देकर परिजनों के होश उड़ा दिये थे वहीं उसी महिला की नार्मल डिलवरी 108 एम्बुलेस के पायलेट एवं एमटी ने कराकर मोटी-मोटी सरकारी तनख्वाह डकार रहे डाक्टर की काबिलियत पर प्रश्न चिन्ह भी लगा दिया है।
पीड़िता और उसके परिजनों के मुताबिक प्रसव से पीड़ित 28 वर्षीय महिला अनीता को अपने परिजन के साथ डिलेवरी हेतु पांवटा सिवल अस्पताल पहंुचे जहाँ तैनात डाक्टर ने बिना चेकअप तथा गायनिक डाक्टर की सलाह लिए बिना ही उन्हें यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि बच्चे का दम घुट रहा है तथा मामला सीरियस है एवं इससे जच्चा-बच्चा दोनों की जान को खतरा हो सकता है। घबरा कर परिजनों ने प्रसव पीड़ा से कराह रही महिला को 108 एम्बुलेंस की मदद से नाहन की ओर कंूच किया परन्तु देखिये दुनियां बनाने वाले का करिश्मा कि महिला की नार्मल डिलीवरी 108 एम्बुलेंस में ही हो गई और काबिल माने जाने वाला डाक्टर अंगूठा छाप सिद्ध हुआ। महिला ने एक लड़के को जन्म दिया है तथा बच्चा व जच्चा को नाहन हॉस्पिटल में एडमिट करवा दिया गया है अब बच्चा व जच्चा स्वास्थ लाभ ले रहे है। काबिलेजिक्र है कि उपरोक्त महिला की नार्मल डिलीवरी 108 एम्बुलेस के एमटी नरेश चैहान एवं पयलट भुवनेश्वर ने कराकर यह सिद्ध कर दिया कि डाक्टर के बजाय अब 108 ही मरीजों के लिए भगवान सिद्ध हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!