पांवटा में दोनों चौधरियों के बीच चल रही नूरा कुश्ती को समझें लोग : लाम्बा

सुखराम के गाँव में अवनीत लाम्बा ने भरी हुंकार, पुरूवाला कांशीपुर में जुटे सैकड़ों लोग 

कहाः एक चौधरी फोन नहीं उठाता और दूसरा पाॅवर न होने का रोता है रोना, अब लोग जाएं तो जाएं कहाँ
पांवटा साहिब। कांग्रेस के युवा नेता एवं शिमला संसदीय क्षेत्र के युवा कांग्रेस के महासचिव अवनीत लाम्बा ने विधान सभा चुनावों के मद्देनजर पांवटा विधान सभा की पंचायतों को तूफानी गति से नापना शुरू कर दिया है। श्री लाम्बा ने मानपुर देवड़ा, राजबन के पश्चात कल देर सायं पूर्व सीपीएस चौधरी सुखराम के गृह गाँव पुरूवाला कांशीपुर में पूर्व पंचायत प्रधान इल्ताफ हुसैन के निवास पर सैकड़ों लोगों का आर्शीवाद लिया।
कल देर सायं पुरूवाला कांशीपुर के पूर्व पंचायत प्रधान इल्ताफ हुसैन के निवास पर उपस्थित सैकड़ों लोगों से सलाह मशविरा के दौरान अवनीत लाम्बा ने कहा कि पांवटा विधान सभा चुनाव हेतु दोनों चौधरियों में नूरा कुश्ती चल रही है और दोनों चौधरियों ने 25 सालों से मुस्लिम बिरादरी, बाहती बिरादरी के साथ-साथ पूरे क्षेत्र को ठगने का काम किया है। उन्होंने कहा कि दोनों चौधरियों में समानता यह है कि जीतने वाला लोगों के फोन तक नहीं उठाता और हारने वाला हाथ में पाॅवर न होने का रोना रोकर समस्याओं से पल्ला झाड़ लेता हैं। अब लोग जायें तो जायें कहाँ ? अतः वोट बैंक और जात-बिरादरी से ऊपर उठ कर नया अध्याय लिखना होगा ताकि लोग अपने चुने हुए विधायक का हाथ पकड़ कर एवं रास्ता रोककर अपने काम करा सकें।
इस अवसर पर पूर्व प्रधान इल्ताफ हुसैन, पूर्व प्रधान सरवर अली, कोटड़ी व्यास के प्रधान भूपेन्दर बाम एवं गोपी ने भी लोगों को सच्चाई से अवगत कराते हुए कहा कि स्थानीय विधायक से अधिक काम तो अवनीत लाम्बा ने कराये हैं और वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के युवा और लोकप्रिय नेता भी हैं। वक्ताओं ने सरकार एवं प्रशासनिक अधिकारियों में श्री लाम्बा की अच्छी पकड़ का उल्लेख करते हुए क्षेत्र के हित में अवनीत लाम्बा के पक्ष में एकजुट होने का आह्वान किया।
इस अवसर पर पूर्व प्रधान इल्ताफ हुसैन, पूर्व प्रधान सरवर अली, कोटड़ी व्यास के प्रधान भूपेन्दर बाम, एवं गोपी के अलावा, काॅपरेटिव सो0 के पूर्व प्रधान हनीव, हाजी सबराती खान, राजाराम, मीम सिंह, गुरमेल सिंह, जरजीस अली, मुमताज अली, नजीर अली, शाकिर अली, जुल्फकार, मुमताज, पूरन सिंह, हाशिम अली, सलीम, मुनीब हसन, ओमप्रकाश, फिरोज खान, गुलजार अली, अयूब खान आदि मुख्यरूप से मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!