892 views

पांवटा नगर पालिका की किसने और क्यों की जै-जै?

एसडीएम राणा को जमकर क्यों कोसा

पांवटा साहिब। ऐतिहासिक होला महल्ला के अवसर पर पांवटा नगर पालिका के द्वारा इस बार मेला व्यापारियों को खास रियायत बरते जाने से मेला व्यापारियों ने इस बार नगर पालिका की सराहना करते हुए जहाँ एक स्वर से जै-जैकारा लगाया है वहीं पूर्व कार्यकारी अधिकारी एवं एसडीएम राणा को जमकर कोसा कि उनकी दंबगई के कारण पिछले साल व्यापारियों को बहुत नुकसान हुआ है।


आज नगर पालिका मैदान में नगर पालिका के कर्मचारियों द्वारा दुकानों की पैमाइश करके दुकान एलाॅट करने का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर पिछले साल के दर्जनों दुकानदारों ने इस बार सस्ते दरों पर दुकान एलाॅट करने के एवज में नगर पालिका के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं नगर पार्षदों का दिल से आभार प्रकट करते हुए खुशी व्यक्त की है।

मेला दुकानदारों ने बताया कि इस बार उन्हें दुकान 4 हजार रुपये में तथा किनारे की दुकान 5 हजार में नगर पालिका द्वारा दी जा रही है। जबकि बीते साल इतनी ही पैमाइश की दुकानें 10 हजार से 15 हजार की भारी दरों पर ठेकेदारी प्रथा के तहत मेला व्यापारियों को दी गई थी जिस कारण उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा था।

मेला व्यापारियों के मुताबिक उन्हें यह नुकसान पूर्व कार्यकारी अधिकारी एवं एसडीएम श्री राणा के गलत फैसले के कारण उठाना पड़ा और वे बड़े निराश थे परन्तु इस बार नगर पालिका ने प्लाटों के रेट स्वयं तय करके मेला व्यापारियों को राहत दी है जिससे लोग काफी खुश हैं जिसके चलते इस बार मेले में अच्छी खासी रौनक देखने को मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!